सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

993 कार्टन अंग्रेजी शराब की तस्करी पकड़ी पशु आहार की बिल्टी: हरियाणा से जा रही थी गुजरात: 25 लाख थी कीमत

लाडनूं (कलम कला न्यूज)। अल्माहा ब्राण्ड के पशु आहार की 15 हजार किग्रा की जेएमडी गुड्स कैरियर की बिल्टी व लौंगल्फ ट्रेडिंग (इंडिया) प्रा.लि. के बिल, जो गणेश ट्रेडिंग कं. नयापुरा महाराष्ट्र के नाम से जारी था के फर्जीवाड़े से एक ट्रक सं. जी जे 1 बी वी 1156 में 993 कार्टन हरियाणा निर्मित अंग्रेजी शराब भरकर उसे सिरसा(हरियरणा) से अहमदाबाद ले जाया जा रहा था। लम्बा सफर तय कर आते समय लाडनूं से गुजरना उनके लिए भारी पड़ा, पुलिस ने उसे डीडवाना रोड पर बाकलिया व सांवराद के बीच मेगा हाईवे पर धर-दबोचा। ट्रक चालक देसराज पुत्र अणदीलाल रैबार, निवासी मोहनपुरा(बूंदी) व सहचालक जुगराज पुत्र दौलतराम रैबारी निवासी लालपुरा(बूंदी) को गिरफ्तार किया है, जिन्हें रिमाण्ड पर लिया जाकर पूछताछ जारी है। थानाधिकारी दरजाराम मेघवाल के निर्देशानुसार सहायक उपनिरीक्षक सवाईखां के नेतृत्व में श्यामलाल, शिम्भूराम, रामप्रसाद सिपाही व चालक बजरंगलाल विश्रोई ने इस अभियान को सफल बनाया। बरामद की गई शराब में 10 632 केन हार्वर्ड 5000 बीयर, 2256 पव्वे एरिस्टोक्रेट प्रीमियम, 2064 पव्वे डीएसपी ब्लेक, 2400 पव्वे सिल्वर पेज, 567 बोतल एरिस्टोक्रेट ओल्ड रिजर्व व्हिस्की, 2304 पव्वे ब्लेंडर प्राइड, 2304 पव्वे सिल्वर पेज ड्राईजिन, 108 बोतल सिग्रेचर व्हिस्की, 96 बोतल ब्लेंडर प्राइड, 360 बोतल एरिस्टोक्रेट प्रिमीयम व्हिस्की,1440 बोतल रॉयल स्टेज व्हिस्की, 1188 बोतल सिल्वर पेज ड्र्राईजिन के कुल 993 कार्टन इस ट्रक में लदे थे। इस ट्रक की आर.सी संतोषकुमार दुलीचंद जैन, घोडासर अहमदाबाद के नाम से है। थानाधिकारी दरजाराम गहनता से अनुसंधान में जुटे हुए हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नगर पालिका से गायब हो रहे पत्रों को लेकर पार्षद मुखर हुए---- कमेटियों के गठन की स्वीकृति से सम्बंधित डाक हुई गायब

लाडनूं (कलम कला न्यूज)। स्थानीय नगर पालिका में आने वाली डाक को आवक रजिस्टर में दर्ज करने के बजाये उसे पूरी तरह गायब कर दिया जाता है। इसी तरह की हालत के शिकार खुद पालिकाध्यक्ष बच्छराज नाहटा भी हुए, जिनके खुद के नाम की डीएलबी से आई डाक को भी गायब कर दिया गया, खुद ईओ के नाम की डाक भी गायब हो जाना आश्चर्य की बात है। उन्होंने जब पार्षदों को इससे अवगत करवाया तो सभी पार्षदों को यह बुरा लगा तथा बोर्ड की गत 29 अप्रेल की बैठक में मुखर होकर पार्षदों ने इस मामले में आवाज उठाई। समितियों के गठन को लेकर हुआ विवाद व टकराव नगर पालिका मंडल में 31 दिसम्बर की बैठक में समितियों का गठन किया गया, जिसमें अधिशाषी अधिकारी ने 60 दिनों में समितियों का गठन नहीं होने को लेकर आपति दर्ज की, उस पर अध्यक्ष ने बार-बार आदेश दिए जाने के बावजूद ई.ओ. द्वारा बैठक नहीं बुलाकर जानबुझकर देरी करने बाबत प्रति-टिप्पणी दर्ज की। इस कार्यवाही की प्रति नियमानुसार डीएलबी, कलेक्टर, उपनिदेशक अजमेर आदि को भेजी गई। इस के बाद सभी कमेटियों के अध्यक्षों ने ईओ को उनकी समिति की बैठक बुलाने का आग्रह किया, परन्तु बिना डीएलबी की स्वीकृति के ब…

बदहाल है लाडनू का अस्पताल

दुर्दशा का शिकार लाडनूं का सौ शैयाओं वाला अस्पताल
लाडनूं। स्थानीय एकसौ शैयाओं वाले राजकीय चिकित्सालय में चिकित्सकों एवं सहायक स्टाफ के रिक्त चल रहे पदों के कारण क्षेत्र के निवासियों को हो रही परेशानियों के मद्देनजर युवक कांग्रेस ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री के नाम का एक ज्ञापन उपखंड अधिकारी नारायणलाल रेवाड़ को सौंपा। युवक कांग्रेस अध्यक्ष हरिराम बुरडक़ के नेतृत्व में दिए गए इस ज्ञापन में बताया गया है कि राजकीय चिकित्सालय में कुल 13 चिकित्सकों के पद रिक्त चल रहे हैं जिनमें शल्य चिकित्सकों के दो पद, निश्चेतन चिकित्सक के दो पद, ऑर्थोपीडिक्स का एक पद, ईएनटी विशेषज्ञ का एक पद, शिशु रोग चिकित्सक का एक पद, मेडिकल ऑफिसर के छरू पद शामिल है। वहीं सहायक स्टाफ में मेल नर्स के तीन पद, महिला नर्स के दो पद व चपरासी के चार पद रिक्त चल रहे हैं। उन्होंने सभी पदों पर सीधे नियुक्ति की मांग की है। इस अस्पताल को लेकर सजग नागरिक मोर्चा के अध्यक्ष जगदीश यायावर, कांग्रेस अभाव अभियोग प्रकोष्ठ के जिला उपाध्यक्ष मुश्ताक खां हाथीखानी, भारतीय माईनोरिटीज सुरक्षा महासंघ के वरिष्ठ प्रदेश उाध्यक्ष मास्टर मो. बिलाल …

नागौर जिले के लिए बजट-घोषणाएं: मकराना में ओवरब्रिज, सिवरेज लाईन ओर परबतसर तक रेल लाईन

नागौर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य विधानसभा में पेश किए गए बजट में नागौर जिले को कई सौगातें देने की घोषणा की है। कई बड़ी योजनाओं पर काम होने के संकेत भी दिए हैं।
हालांकि इस बजट में नागौर जिले की महत्वपूर्ण नहरी पानी की योजना को छुआ तक नहीं गया है जो यहां के लोगों की सबसे अहम जरूरत है। मकराना व परबतसर शहरों के बीच रेल लाइन डाइवर्जन की घोषणा का तोहफा भी इस बजट में दिया है। बजट में इन प्रावधानों की घोषणा नागौर जिले के लिए की गई है-
1. मकराना से परबतसर रेल लाईन: मकराना क्षेत्र में अब सुरक्षित खनन के लिए परबतसर से मकराना तक रेललाइन डाइवर्जन के लिए सात करोड़ रुपए रेलवे को जमा कराए गए हैं। इस डाइवर्जन से परबतसर को रेल सुविधा से जोड़े जाने के संकेत भी मुख्यमंत्री ने दिए।
2. मकराना व डीडवाना में सिवरेज लाईन: मकराना व डीडवाना में शहरी क्षेत्र में सीवरेज लाइन बिछाने की योजना को मंजूरी। इससे जिले को दोनों महत्वपूर्ण शहरों का कायापलट होने की उम्मीद जगी है।
3. राशन में आटा: नागौर जिला मुख्यालय पर एपीएल परिवारों को फोर्टीफाइड आटा देने की घोषणा। यह योजना हाल ही मेें नागौर में शुरू भी कर दी…