यह ब्लॉग खोजें

पृष्ठ

रविवार, 13 मार्च 2011

नागौर जिले के लिए बजट-घोषणाएं: मकराना में ओवरब्रिज, सिवरेज लाईन ओर परबतसर तक रेल लाईन

नागौर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य विधानसभा में पेश किए गए बजट में नागौर जिले को कई सौगातें देने की घोषणा की है। कई बड़ी योजनाओं पर काम होने के संकेत भी दिए हैं।
हालांकि इस बजट में नागौर जिले की महत्वपूर्ण नहरी पानी की योजना को छुआ तक नहीं गया है जो यहां के लोगों की सबसे अहम जरूरत है। मकराना व परबतसर शहरों के बीच रेल लाइन डाइवर्जन की घोषणा का तोहफा भी इस बजट में दिया है। बजट में इन प्रावधानों की घोषणा नागौर जिले के लिए की गई है-
1. मकराना से परबतसर रेल लाईन: मकराना क्षेत्र में अब सुरक्षित खनन के लिए परबतसर से मकराना तक रेललाइन डाइवर्जन के लिए सात करोड़ रुपए रेलवे को जमा कराए गए हैं। इस डाइवर्जन से परबतसर को रेल सुविधा से जोड़े जाने के संकेत भी मुख्यमंत्री ने दिए।
2. मकराना व डीडवाना में सिवरेज लाईन: मकराना व डीडवाना में शहरी क्षेत्र में सीवरेज लाइन बिछाने की योजना को मंजूरी। इससे जिले को दोनों महत्वपूर्ण शहरों का कायापलट होने की उम्मीद जगी है।
3. राशन में आटा: नागौर जिला मुख्यालय पर एपीएल परिवारों को फोर्टीफाइड आटा देने की घोषणा। यह योजना हाल ही मेें नागौर में शुरू भी कर दी गई है। इस गेहूं का वितरण शुरू भी किया जा चुका है।
4. तेजा मंदिर के लिए
50 लाख: खरनाल के वीर तेजाजी मंदिर में विकास के लिए 50 लाख रुपए देने की घोषणा। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री पिछले दिनों इस मेले में तेजाजी के दर्शन करने आए थे।
5. कोयला खानों से पानी के लिए पैसा: जायल क्षेत्र के लोगों की पेयजल समस्या को ध्यान में रखते हुए मातासुख लिग्नाइट परियोजना से मीठा जल आपूर्ति करने के लिए 141 करोड़ रुपए की घोषणा। फ्लोराइड युक्त पानी पीने का अभिशाप झेल रहे क्षेत्र को इससे लाभ मिलेगा।
6. वन्य जीव उपचार: जोधपुर व बीकानेर के अलावा नागौर में घायल वन्य जीवों की उपचार की विशेष व्यवस्था की जाएगी। इस व्यवस्था से यहां के वन्य जीवों को जीवन रक्षक प्रणाली का लाभ मिल सकेगा।
7. मकराना में बनेगा ओवरब्रिज: मंगलाना से मकराना के बीच आने वाले रेल फाटक पर ओवरब्रिज निर्माण के लिए 26 करोड़ रुपए मिले हैं। इससे क्षेत्र के लोगों को बार बार फाटक बंद होने की समस्या से निजात मिलेगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें