यह ब्लॉग खोजें

पृष्ठ

शनिवार, 5 मार्च 2011

यायावर की kalam

कर दो शुरू क्रांति
मुक्त हो गया मिश्र, मुबारक को लगा कर धक्का।
कई देशों को मुक्ति का, संदेश दे दिया पक्का।।
संदेश दे दिया पक्का, अब तो जनता जागे।
बिना तोप ही भ्रष्टाचार, इस देश से भागे।।
कहे यायावर साफ, कर दो शुरू क्रांति।
उठो सारे साथ, मिटा दो सता की भ्रांति।।


जगदीश yayawar

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें